news in hindi

भारत में आतंकियों की घुसपैठ के लिए अब बच्चों की मदद ले रहा पाकिस्तान

Quote Posted on

loc_bsf_1494042930_749x421

जम्मू कश्मीर में गड़बड़ी फैलाने के मकसद से आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए पाकिस्तान रोज नए तरीके अपना रहा है. पाकिस्तान ने अब घुसपैठ से पहले इलाके का जायजा (रेकी) लेने के लिए नाबालिग लड़कों का इस्तेमाल कर रहा है. जम्मू के राजौरी स्थित नौशेरा सेक्टर में सुरक्षाबलों ने नियंत्रण रेखा के पास एक ऐसे ही एक किशोर को गिरफ्तार किया है.

रक्षा विभाग के प्रवक्ता लेफ्टिनेट कर्नल मनीष मेहता ने इसकी गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा के पास गश्त के दौरान 12 साल के एक घुसपैठिये को पकड़ा. अशफाक अली चौहान नाम का यह किशोर बुधवार देर शाम नियंत्रण रेखा पार कर रजौरी सेक्टर के नौशेरा सेक्टर घुसा था.

उन्होंने बताया कि अशफाक नियंत्रण रेखा के आसपास घूम रहा था. उसकी हरकतों को लेकर शक होने पर गश्ती दल ने उससे रोककर पूछताछ की, तो उसने तुरंत सरेंडर कर दिया.

सैन्य प्रवक्ता के मुताबिक, अशफाक ने पूछताछ में बताया कि वह बलूच रेजिमेंट के रिटायर्ड सैनिक हुसैन मलिक का बेटा है. उसका पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भीमबेर जिले के समानी तहसील स्थित डुंगर पेल गांव का निवासी है. उन्होंने कहा, ‘ऐसी आशंका है कि आंतकियों ने पाकिस्तानी सेना की मदद से उस लड़के को नियंत्रण रेखा पार कराया, जिससे कि वह घुसपैठ के लिए आसान रास्तों की निशानदेही कर सके.’

सेना ने अब इस पाकिस्तानी किशोर को आगे की जांच के लिए पुलिस के हवाले कर दिया है. यहां बता दें कि पाकिस्तान का भीमबेर ही वह जगह है, जहां पिछले साल भारतीय सेना ने आतंकियों के लॉन्च पैड पर सर्जिकल स्ट्राइक किया था.

चैंपियंस ट्रॉफी में खेलेगा भारत, सोमवार को चुनी जाएगी टीम

Quote Posted on Updated on

icc_champs_trophy_1494044301_749x421

आखिरकार लंबे गतिरोध के बाद यह तय हो गया है कि चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम खेलेगी. इसके लिए सोमवार को टीम इंडिया की घोषणा की जाएगी. विराट कोहली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए टीम चयन बैठक से जुड़ेंगे. चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम इंडिया के 15 नाम आईसीसी को भेजने की आखिरी तारीख 25 अप्रैल थी. भारत को छोड़कर बाकी सात देश अपनी टीम आईसीसी को भेज चुके हैं. इसका कारण बीसीसीआई और आईसीसी के बीच काफी दिनों से चला आ रहा तनाव है.

बीसीसीआई ने आईसीसी को धमकी भी दे डाली थी कि अगर आईसीसी भारत के हितों को ध्यान में नहीं रखता है, तो वह चैंपियंस ट्रॉफी से हट सकता है. आईसीसी का दूसरा सबसे बड़ा टूर्नामेंट चैंपियंस ट्रॉफी का आगाज 1 जून से इंग्लैंड में होगा. भारत का पहला मैच 4 जून को पाकिस्तान से है.

सीओए ने BCCI से शीघ्र टीम चुनने को कहा था
आईसीसी के साथ टकराव के रास्ते पर खड़ी बीसीसीआई को तब बड़ा झटका लगा था, जब सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) ने उसे चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम की घोषणा शीघ्र करने के निर्देश जारी कर दिेए थे. सीओए ने एसजीएम और टीम चयन को लेकर बीसीसीआई को एक ई-मेल किया था. सीओए ने बीसीसीआई से पूछा कि राजस्व मामले को लेकर एसजीएम की मीटिंग 7 मई को होनी है, लेकिन वह टीम के चयन के लिए इतना इंतजार क्यों करे हैं?

बिग थ्री फॉर्मूला रहा गतिरोध का बड़ा कारण
दरअसल, बीसीसीआई और आईसीसी के बीच बिग थ्री फॉर्मूले को लेकर बहस छिड़ी थी. इस मुद्दे को लेकर दोनों बोर्ड के अधिकारियों के बीच कई बार बहस और बातचीत हुई, पर कोई निष्कर्ष नहीं निकल पाया. ’बिग थ्री’ फॉर्मूले के तहत भारत, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को आईसीसी के राजस्व का बड़ा हिस्सा मिलता है. इस मॉडल का समर्थन करने के लिए एक तिहाई सदस्यों की आवश्यकता होती है.  आईसीसी अध्यक्ष शशांक मनोहर बीसीसीआई से पहले ही कह रहे थे कि बीच का रास्ता मान जाओ नहीं, तो परिणाम 1-9 जैसा हो सकता है. 1-9 का मतलब है कि क्रिकेट के 10 शीर्ष बोर्डों में से 9 बोर्ड भारतीय बोर्ड के खिलाफ एक हो जाएंगे और ऐसा ही हुआ.

आईसीसी की इस पहल से मुद्दा गरमाया
आईसीसी ने नए नियमों के अनुसार किसी भी आईसीसी टूर्नामेंट में होने वाली कमाई में भारत की हिस्सेदारी के साथ-साथ उसकी आधिकारिक ताकत को सीमित करने का फैसला लिया है. इसी वजह से बीसीसीआई 1 से 18 जून तक होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी से हटना चाह रहा था. बीसीसीआई ने डेड लाइन निकल जाने के बाद भी चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम का चयन तक नहीं किया.

सार्क सैटेलाइट प्रोजेक्ट पर PAK ने बदला बयान, कहा- भारत ने साथ नहीं रखा

Quote Posted on Updated on

gsat_1494037289_749x421

पाकिस्तान ने सार्क सैटेलाइट प्रोजेक्ट से खुद को अलग किए जाने के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि नई दिल्ली सभी के सहयोग से उपक्रम विकसित करने का इच्छुक नहीं है. इससे पहले पाक ने यह कहते हुए खुद को इस प्रोजेक्ट से अलग कर लिया था कि उसका अपना अंतरिक्ष कार्यक्रम है. वहीं, दूसरी तरफ, बांग्लादेश ने कहा कि भारत के इस कदम से विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ेगा.

पाकिस्तान ने यह दावा उस वक्त किया है, जब भारत ने पड़ोसी देशों के संचार एवं आपदा संबंधी सहयोग देने के मकसद से दक्षिण एशिया उपग्र ह का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया है. पाकिस्तानी विदेश विभाग के प्रवक्ता नफीस जकरिया ने कहा कि 18वें सार्क शिखर बैठक के दौरान भारत ने सदस्य देशों को सार्क सैटेलाइट का तोहफा देने की पेशकश की थी.

बहरहाल, भारत ने यह स्पष्ट कर दिया था कि वह इसका अकेले निर्माण करेगा, प्रक्षेपण करेगा और संचालन भी करेगा. उधर, बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि दक्षिण एशिया उपग्रह के प्रक्षेपण के बाद बांग्लादेश और भारत के जल, थल और वायु में सहयोग का विस्तार हुआ है.

हसीना ने कहा, ‘मेरा यह मानना है कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र के लोगों की भलाई यहां के देशों के बीच सहयोग के कई क्षेत्रों में सार्थक संपर्क पर निर्भर करता है.’ मालूम हो कि शुक्रवार को भारत ने सार्क देशों के बीच संचार और संपर्क को बढ़ावा देने के लिए दक्षिण एशिया सैटेलाइट जीसैट-9 को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया.

इस सैटेलाइट को इसरो ने बनाया है. इस कामयाबी के बाद सार्क देशों के 6 राष्ट्राध्यक्षों ने एक साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दुनिया को संदेश दिया. इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि जीसैट-9 से भारत, बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, अफगानिस्तान, भूटान और मालदीव को फायदा होगा. इससे अंतरिक्ष में दक्षिण एशिया की ताकत बढ़ेगी.

इसे भी पढ़िएः 450 करोड़ की लागत से बने SAARC सैटेलाइट की 10 खास बातें

ऐसे सार्क सैटेलाइट प्रोजेक्ट से बाहर हुआ पाक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब सार्क सैटेलाइट का आइडिया पड़ोसी देशों के समक्ष रखा. उस समय पाकिस्तान ने इस कदम का स्वागत किया. प्रधानमंत्री के विचार पर जोश भरी प्रतिक्रिया देते हुए नई दिल्ली में पाकिस्तान के उच्चायुक्त ने कहा कि उनका देश इस प्रस्ताव पर रचनात्मक सुझाव देगा. हालांकि कुछ दिन बाद ही पाकिस्तान ने इस प्रोजेक्ट में साझीदार बनने की बात कही. पाकिस्तान ने इस पर जोर दिया कि उसे इसरो की टेक्निकल टीम का हिस्सा बनाया जाए. साथ ही उसने भारत के साथ इस प्रोजेक्ट का खर्च उठाने का भी प्रस्ताव रखा, जिसे भारत ने खारिज कर दिया. इसके बाद पाकिस्तान ने मांग रखी कि सैटेलाइट का कंट्रोल का सार्क देशों को दिया जाए न कि सिर्फ इसरो के पास रहे. यही नहीं पाकिस्तान ने फिर सुरक्षा का मुद्दा उठाना शुरू कर दिया, जिसे भारत ने खारिज कर दिया. इसके बाद पाकिस्तान ने इस प्रोजेक्ट से खुद को अलग कर लिया. उनकी दलील थी कि उनके पास अपना अंतरिक्ष कार्यक्रम है.

12 साल है जीसैट-9 की लाइफटाइम
जीसैट को चेन्नई से करीब 135 किलोमीटर दूर श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के दूसरे लांचिंग पैड से लांच किया गया. इसरो ने बताया कि जीसैट-9 मिशन का लाइफटाइम 12 साल का है.

PM मोदी की स्पेस डिप्लोमेसी

मई 2014 में सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों से सार्क सैटेलाइट बनाने के लिए कहा था, जो पड़ोसी देशों को भारत की ओर से उपहार है. साथ ही चीन के प्रभाव को क्षेत्र में कम किया जा सकेगा. बीते रविवार को मन की बात कार्यक्रम में मोदी ने घोषणा की थी कि दक्षिण एशिया उपग्रह अपने पड़ोसी देशों को भारत की ओर से कीमती उपहार होगा. मोदी ने कहा था, ‘पांच मई को भारत दक्षिण एशिया उपग्रह का प्रक्षेपण करेगा. इस परियोजना में भाग लेने वाले देशों की विकासात्मक जरुरतों को पूरा करने में इस उपग्रह के फायदे लंबा रास्ता तय करेंगे.

Oppo आज लॉन्च करेगा F3, सेल्फी के लिए होगा खास

Quote Posted on Updated on

oppo_6_2222_1493874726_749x421.jpeg

Oppo आज F-सीरीज के अपने नए स्मार्टफोन F3 को भारत में लॉन्च करने जा रहा है. इस स्मार्टफोन को टॉलीवुड फिल्म बाहुबली की साझेदारी से लॉन्च किया जाना है. कंपनी ने इसे सेल्फी के लिए खास बनाया है. लेकिन इससे पहले ही इस स्मार्टफोन की प्रमोशनल पिक्चर्स और फीचर्स लीक हो गए हैं. लीक हुई तस्वीरों में स्मार्टफोन के बैक और रियर दोनों साइड को देखा जा सकता है.

इन तस्वीरों को AndroidPure द्वारा लीक किया गया है. फिलहाल इस स्मार्टफोन की कीमत के बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई है. मीडिया रिपोर्ट्स में जो जानकारियां लीक हुई है उसके मुताबिक, इस स्मार्टफोन में Corning Glass 5 प्रोटेक्शन के साथ 5.5-इंच फुल HD डिस्प्ले दिया गया है, जिसका रिजॉल्यूशन 1920 x 1080 पिक्सल है. इसके फ्रंट में डुअल कैमरा सेटअप होगा जो कि तस्वीर में नजर भी आ रहा है.

इस स्मार्टफोन में Mali T860 के साथ ऑक्टा कोर Mediatek MT6750T प्रोसेसर दिया गया है. इसमें 4GB रैम के साथ 64GB इंटरनल स्टोरेज होने की जानकारी है जिसे कार्ड की मदद से 128GB तक बढ़ाया जा सकता है. ये कंपनी के ColorUI 3.0 के साथ एंड्रायड 6.0 मार्शमैलो पर चलेगा. इसके बैटरी की बात करें तो इसमें 3,200mAh की बैटरी दी जाएगी.

सबसे जरुरी कैमरे के सेक्शन की बात करें तो लीक खबरों से पता चला है कि इसके फ्रंट में कंपनी ने 16 मेगापिक्सल और 8 मेगापिक्सल के दो कैमरे दिए हैं, जिससे 120 डिग्री वाइड एंगल व्यू भी मिलेगा. वहीं रियर में कंपनी ने 13 मेगापिक्सल का कैमरा दिया है. इससे 1080p में फुल HD वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जा सकेगी. इसमें फ्रंट में फिंगरप्रिंट सेंसर भी मिलेगा. कनेक्टिविटी की बात करें तो इस डिवाइस में 4G VoLTE, Wi-Fi 802.11 a/b/g/n/ac, Bluetooth 4.1, GPS और हाइब्रिड डुअस सिम (Nano + Nano) होने की खबर है.

जिम में फैन्स की इस हरकत के बाद आलिया भट्ट को आया गुस्सा

Quote Posted on Updated on

ali_bhatt_1493877885_749x421.jpeg

आलिया भट्ट के फैन्स की कमी नहीं है, इस चुलबुली एक्ट्रेस के लाखों दीवाने हैं. आलिया भी अपने फैन्स से बेहद प्यार करती है, पर इस बार उनके फैन्स को मुस्कुराती हुई आलिया के गुस्से का शिकार होना पड़ा.

बुधवार शाम आलिया अपने जुहू घर ड्राइव करके बांद्रा जिम में पहुंची तो फैन्स अपनी फेवरेट स्टार को देख बेकाबू हो गए. आलिया ने जैसे ही कार से बाहर कदम रखा उनके फैन्स जोर-जोर से उनका नाम पुकारने लगे. आलिया को ये पसंद नहीं आया.

 (हेडलाइन के अलावा, इस खबर को  instantaajtak ने संपादित नहीं किया है, यह aajtakफीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

वहां मौजूद एक शख्स ने बताया कि आलि(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को  instantaajtak ने संपादित नहीं किया है, यह aajtakफीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)या का अपने फैन्स को तवज्जो देने का कोई मूड नहीं था. वो वहां से बिना कुछ कहे वहां से चली गई.


आलिया की मम्मी का सवाल-लड़कों से क्यों नहीं हो सकती मेरी बेटी की दोस्ती

आलिया भट्ट यंगस्‍टर्स में तो पॉपुलर हैं ही, अब तो हर उम्र के लोग उनके दीवाने हो रहे हैं. सोशल साइट टि्वटर पर उनके फॉलोअर्स देखकर तो यही लगता है.

दरअसल, उनके फॉलोअर्स की संख्‍या बढ़कर 10.9 मि‍लियन करोड़ के पार पहुंच गई है. आलिया तो इस उपलब्धि पर फूली नहीं समा रही हैं. उन्‍होंने ट्वीट कर अपने फैंस को थैंक्‍यू कहा था.

गौरतलब है कि आलिया को बॉलीवुड में आए ज्‍यादा समय नहीं हुआ है. 2012 में ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ के साथ बॉलीवुड डेब्‍यू करने वाली आलिया की लोकप्रियता आसमान पर पहुंच गई है.

Jio के 509 रुपये के रीचार्ज पर कुछ ग्राहकों को हर रोज मिला 1GB डेटा, जानें वजह

Quote Posted on Updated on

jio_559_0914222_1493090797_749x421 (1)

ये सभी को मालूम है कि रिलायंस जियो की सेवाएं अब मुफ्त नहीं रही. हालांकि कंपनी ने यूजर्स के लिए बेहतर ऑफर्स दिए हैं. जियो समर सरप्राइज ऑफर में प्राइम यूजर को 303 या 499 रुपये के रिचार्ज पर तीन महीने की सेवाएं की दी जा रही थीं. दूसरी तरफ धन धना धन ऑफर में 309 और 509 रुपये के पैक में हर दिन 4G स्पीड में क्रमशः 1GB और 2GB डेटा इस्तेमाल के लिए दिया जाता है. लेकिन अब खबर आई है कि कुछ यूजर्स को 509 रुपये के रिचार्ज के बावजूद 4G स्पीड में केवल 1GB डेटा ही उपयोग के लिए मिल रहा है.

गैजेट्स 360 की खबर के मुताबिक, अभी तक सभी यूज़र को हैपी न्यू ईयर ऑफर से पोर्ट नहीं किया गया है जिसकी अंतिम तारीख 31 मार्च थी. इस वजह से ऐसा हो रहा है.

Jio के हैपी न्यू इयर ऑफर में ग्राहकों को इस्तेमाल के लिए हर दिन 4G स्पीड में 1GB मिलता था. लेकिन जिन जियो प्राइम ग्राहकों को नए जियो समर सरप्राइज़ या धन धना धन ऑफर में पोर्ट नहीं किया गया है, उन्हें 499 या 509 रुपये के रिचार्ज के बावजूद हर दिन 1GB डेटा ही मिल पा रहा है.

इस संबंध में जियो के ग्राहक सेवा अधिकारी ने बताया कि, कंपनी अभी तक कस्टमर्स को पूरी तरह से माइग्रेट नहीं कर पाई है, इस वजह से कुछ ग्राहकों को इस परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि कंपनी ने ये नहीं बताया कि इस माइग्रेशन में कंपनी कितना वक्त लेगी.

इससे उन ग्राहकों को जरुर झटका लगा है जिन्होंने 2GB डेटा के उपयोग के लिए 509 रुपये का रिचार्ज पैक अपनाया था. ऐसे ही एक ग्राहक की शिकायत भी खबर में आई थी, लेकिन बाद में ये परेशानी दूर हो गई थी.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को  instantaajtak ने संपादित नहीं किया है, यह aajtakफीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

PAK के मंसूबों पर सेना की पैनी नजर, BAT से निपटने को बनाई खास रणनीति

Quote Posted on

indian_army_1493782532_749x421

जम्मू कश्मीर में हालिया आतंकी हमलों के बाद भविष्य में ऐसे हमले रोकने के लिए भारतीय सेना ने नई रणनीति बनाई है. सेना का खास जोर आतंकियों की घुसपैठ रोकने पर है और इसके लिए पाकिस्तानी सीमा से सटे घाटी के कुछ खास इलाकों में जवानों की तैनाती में बढ़ाने जा रहा है.

आजतक को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक, आतंकी इन दिनों घुसपैठ के लिए 8 नए रास्ते अपना रहे हैं, जिसमें कश्मीर के महादेव से कालाकोट, कोतकोटेरा से काला कोटे और निकैल से मंजी कोटे का रास्ता प्रमुख रूप से निशानदेही पर है. सेना के शीर्ष सूत्रों के मुताबिक, आतंकियों की घुसपैठ रोकने के लिए सैनिकों की टुकड़ी को पीर पंजाल के दक्षिणी इलाकों से घाटी और दूसरे इलाकों की तरफ भेजा जा रहा है.

हाल के महीनों में पाकिस्तानी सेना की बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) की चार कार्रवाइयों को सेना ने नाकाम किया है. BAT से निपटने के लिए सेना ने अब नई योजना बनाई है और उसके नापाक मंसूबों को नाकाम करने के लिए सेना ने स्थानीय कमांडरों को खास निर्देश जारी किए हैं.

बता दें कि पाकिस्तानी सेना ने इसी हफ्ते सोमवार को जम्मू कश्मीर में मेंढर सेक्टर में भारी गोलीबारी कर भारतीय सेना के दो जवानों को शहीद कर दिया था. इस गोलीबारी की वजह से वहां काफी धुआं फैल गया था और इसी का फायदा उठा कर पाकिस्तानी सेना के मुजाहिद लड़ाकों ने भारतीय सीमा में घुसकर भारतीय जवानों के शव क्षत-विक्षत कर दिए.

सेना को मिली खुफिया जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान से सटी नियंत्रण रेखा (LoC)के पार उसके कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में 4-5 कैंप सक्रीय हैं. खुफिया सूत्रों के मुताबिक, नियंत्रण रेखा से 10-15 किलोमीटर अंदर स्थित इन कैंपों में पाक सेना की स्पेशल सर्विस ग्रुप (एसएसजी) ने पिछले महीने बैट टीम को ट्रेनिंग दी थी.

सूत्रों के मुताबिक, भारतीय सेना के DGMO लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट ने हॉटलाइन पर अपने पाकिस्तानी समकक्ष मेजर जनरल शाहिर शमशाद ने बात की और उनसे PoK में चल रही इन BAT कैंप को तत्काल बंद करने को कहा है. उन्होंने चेतावनी दी कि अगर पाकिस्तानी सेना ने इन कैंपों को तुरंत बंद नहीं किया तो उसे इसके नतीजे भुगतने होंगे .

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को  instantaajtak ने संपादित नहीं किया है, यह aajtakफीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)